इस लड़के के सवालो से डर गया पत्रकार रविश कुमार, किया हर जगह से ब्लॉक

Categories Viral BCPosted on
Ravish Kumar

पत्रकार रविश कुमार ने 30 अप्रैल को फ़ेसबुक पर एक पोस्ट शेयर किया. जिसमें डेटा था पीएम मोदी के द्वारा दिए गए इंटरव्यूज़ के व्यूज़ का. कि कितने लोग पीएम मोदी का इंटरव्यू यूट्यूब पर सुनते हैं. ऐसे में एक लड़के ने कमेंट करके कहा कि ये अधूरी रिसर्च है. पूरा डेटा ये है.

बढ़िया रिसर्च

Ravish Kumar यांनी वर पोस्ट केले सोमवार, २९ एप्रिल, २०१९

प्रधान मंत्री मोदी जी ने कई चैनल को चुनाव के दौरान इंटरव्यू दिया हैं. यूट्यूब चैनल पर इन इंटरव्यू को कितने लोगों ने देखा है उस का डेटा निकाला हूँ. यह सब डेटा 30 अप्रैल 2019 के सुबह 10.30 बजे तक का है. पीएम में आजतक और इंडिया टुडे को एक इंटरव्यू दिया था. एक घंटा 18 मिनट्स के करीब. इस इंटरव्यू को इंडिया टुडे के यूट्यूब पर 46K लोगों ने देखा है. इंडिया टुडे को 17 लाख लोगों ने यूट्यूब पर सब्सक्राइब किया है.

आजतक यूट्यूब चैनल पर इस इंटरव्यू 64K के करीब लोगों ने देखा है. आजतक को यूट्यूब पर एक करोड़ 70 लाख के करीब लोगों ने सब्सक्राइब किया है. News Tak यूट्यूब चैनल पर 959K के करीब लोगों ने देखा है. News tak यूट्यूब चैनल को 52 लाख लोगों ने सब्सक्राइब किया हैं. दिल्ली तक यूट्यूब चैनल पर पांच हज़ार के करीब लोगों ने देखा है. दिल्ली तक के यूट्यूब चैनल को 391K लोगों ने सब्सक्राइब किया है. यह फुल इंटरव्यू की बात कर रहा हूँ जो एक घंटा 18 मिनट्स के करीब है. इंटरव्यू के कई छोटे छोटे पार्ट भी अप-लोड हुए हैं. उसका व्यू अलग है.

PM Modi Akshay Kumar
PM Modi Akshay Kumar
आजतक और इंडिया टूडे का इंटरव्यू

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी यूट्यूब चैनल पर आजतक और इंडिया टुडे का यह इंटरव्यू भी अपलोड हुआ है. यहां 486K व्यू है. प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी यूट्यूब चैनल को 23 लाख लोगों ने सब्सक्राइब किया है. बीजेपी ने भी इस इंटरव्यू को अपलोड किया है. बीजेपी के यूट्यूब पर 764K व्यू है. बीजेपी के यूट्यूब चैनल को 14 लाख के करीब लोगों ने सब्सक्राइब किया है. यह सब डेटा आज के सुबह 10.30 बजे तक है.

टाइम्स नाऊ और रिपब्लिक वाला इंटरव्यू

कुछ दिन पहले पीएम ने टाइम्स नाउ को भी इंटरव्यू दिए थे. टाइम्स नाउ के यूटुब पर इस इंटरव्यू को 172K के करीब लोगों ने देखा है. टाइम्स नाउ यूट्यूब चैनल को कुल-मिलाकर 11लाख के करीब लोगों ने सब्सक्राइब किये हैं. टाइम्स नाउ के इंटरव्यू को पीएम नरेंद्र मोदी जी के यूट्यूब चैनल पर 296K के करीब लोगों ने देखा है जब कि बीजेपी के यूट्यूब चैनल पर 361K के करीब व्यू है. रिपब्लिक ने भी पीएम का एक इंटरव्यू किया था. 29 मार्च को यह इंटरव्यू हुआ था.

रिपब्लिक भारत के यूट्यूब चैनल पर इस इंटरव्यू को 124K के करीब लोगों ने देखा है. रिपब्लिक भारत के यूट्यूब चैनल को 23 लाख लोगों ने सब्सक्राइब किये हैं. पीएम नरेंद्र मोदी के यूट्यूब चैंनल पर इस इंटरव्यू को 404K के करीब लोगों ने देखा है जब कि बीजेपी के यूट्यूब चैनल पर 11लाख के करीब लोगों ने देखा है.

PM Modi Akshay Kumar
PM Modi Akshay Kumar

अब इसी पोस्ट के नीचे एक कमेंट है अंशू कुमार का

Hindustan Times youtube channel को 942 K (अर्थात नौ लाख बयालीस हजार)लोगों ने यूट्यूब पर सब्सक्राइब किया है. अक्षय कुमार और मोदी वाला इंटरव्यू 3.8 million (अर्थात 38 लाख यानी चार गुना ज्यादा )लोगों ने इसी चैनल पर अभी तक देख लिया है. पात्रा जी को अपनी रिसर्च मे ये भी लिखना चाहिए था.


Narendra modi यूट्यूब चैनल पर 2.3 million अर्थात 23 लाख सब्सक्राइबर्स हैं. इस इंटरव्यू को 4.7 millon अर्थात 47 लाख लोग यानी दोगुना ज्यादा लोगों ने अबतक देख चुका है.
अब आपकी एकतरफा पत्रकारिता करने वाले पात्रा साहब को रिसर्च करना तो मैं नहीं सीखला सकता. आप मुझे तुरंत भाजपा के आईटी सेल वाला भी घोषित कर दोगे.

Ravish Kumar
Ravish Kumar

रविश ने किया ब्लॉक

किसी भी प्रकार की असभ्य भाषा का प्रयोग नहीं करने के बावजूद आपने अपने फेसबुक पेज Ravish Kumar से मुझे कॉमेंट और लाइक करने से ब्लॉक कर रखा है.

मुझे समझ नहीं आता कि एक अदना सा कॉलेज छात्र द्वारा किए गए प्रश्नों से इतना बड़ा पत्रकार रवीश कुमार क्यों डर रहा है? क्या ऐसा इसलिए है क्योंकि मैं मूर्खो की तरह गालियां नहीं देता हूं. बुद्धिमत्ता से तार्किक प्रश्न पूछता हूं?

सहानभूति लेते हैं रविश

आपने उन लोगों को ब्लॉक नहीं किया है. जो भाजपा के मूर्ख समर्थक और अंधभक्त होकर आपको गालियां बकता है. क्योंकि उससे आप सहानुभूति लेते हो. और जनता के बीच ये बतलाने की कोशिश करते हो कि भाजपा समर्थक कुछ वैसे ही मूर्ख लोग गालियां देने वाले होते हैं. जब मै आपकी स्वस्थ आलोचना करता हूं तो आपको इससे दिक्कत हो जाती है.

आखिर प्रश्न पूछने की आजादी और आलोचना करने के पक्षधर रवीश कुमार मेरे प्रश्नों से क्यों डर रहा है?

मुझे लगता है कि जिस प्रकार से देश का प्रधानमंत्री Narendra Modi तथाकथित रूप से रवीश कुमार के प्रश्नों का सामना करने से डरता है. ठीक उसी प्रकार से देश का एक लोकप्रिय पत्रकार रवीश कुमार भी Anshu Kumar के प्रश्नों से डर रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *