ऐसा लग रहा है कि बीजेपी का साथ देने की वजह से अमेठी में पूर्व प्रधान को राहुल गांधी ने मरवा दिया?

Categories opinionPosted on

ये सिर्फ़ एक सवाल है हमारा. अगर आप सोशल मीडिया पर लोगों को कमेंट्स खंगालेंगे तो आपको पता चल जाएगा. कि लोगों ने डायरेक्ट ये लिख दिया है कि अमेठी में बीजेपी का साथ देने का परिणाम पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह ने भुगता है. अगर वो जनरल इलेक्शन में स्मृति ईरानी का साथ नहीं देते. तो वो ज़िंदा होते. ये सिर्फ़ सवाल है. इसकी जांच होना अभी बाकी है. सीएम योदी आदित्यनाथ ने तुरंत जांच के आदेश दिए हैं. उम्मीद है कि जल्द ही पता चल जाएगा किसने आखिर ये मर्डर कराया है.

स्मृति ईरानी ने दिया था कंधा

बता दें कि अमेठी में इलेक्शन रिज़ल्ट के बाद स्मृति ईरानी के करीबी सुरेंद्र सिंह की किसी ने गोली मारकर हत्या कर दी. सुरेंद्र सिंह वो नाम है जिन्होंने स्मृति ईरानी की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. सुरेंद्र सिंह को तब गोली मारी गई. जब वो घर के बाहर सो रहे थे. जैसे ही ये खबर स्मृति ईरानी तक पहुंची. वो तुरंत अमेठी पहुंची. साथ ही सुरेंद्र सिंह की अंतिम यात्रा में उन्हें कांधा भी दिया. साथ ही पैर छूकर उन्हें अंतिम विदाई भी दी.स्मृति ईरानी के इस कदम पर उनके विपक्षियों ने उनकी तारीफ़ की. तो कई लोगों ने सिर्फ़ यही कहा कि एक महिला किसी शव को कंधा नहीं दे सकती. ये अपशकुन होता है.

सारे एंगल देख रही है पुलिस

इस मामले में उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह का कहना है कि 7 संदिग्धों को हिरासत में लिया है. उनसे पूछताछ की जा रही है. हत्या के मामले में पुलिस को महत्वपूर्ण सुराग मिले हैं. पुलिस सारे एंगल को देख रही है.

Smriti Irani
Smriti Irani
बेटे ने कहा कांग्रेस वालों ने मरवाया है

सुरेंद्र सिंह के बेटे ने भी कहा है कि उनके पिता पिता स्मृति ईरानी के करीबी थे. वो 24 घंटे चुनाव प्रचार में लगे रहते थे. जब स्मृति ईरानी जीत गईं. तो यहां एक विजय यात्रा निकाली गई थी. लेकिन कांग्रेस के कुछ समर्थकों को ये बात पसंद नहीं आई. हमें कुछ लोगों पर शक भी है. वहीं मामले में पड़ोस के 2 लोगों का भागता हुआ देखा गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *